आज सुबह दियारा के छोटे बड़े गांव में यज्ञ में भाग लिया साथ ही साथ अपने किसान भाई जनों के बीच मुलाकात करने का सौभाग्य प्राप्त हुआ इसी दौरान मुझे कुछ किसानों ने बताया कि जल जीवन हरियाली का ,शौचालय की स्थिति दयनीय थी, स्कूलों का कुछ कार्य निर्माण स्थगित था ! इन सभी परेशानियों से रूबरू हुई हूं और उसी दौरान इन सभी के प्रभारी से लगातार बातचीत के बाद स्थिति का आकलन भी किया और पता चला और निर्देश दिए कि वह असंभव जल्द से जल्द पूर्ण हो और कोशिश करूंगी इस बीच में कोई रुकावट ना आए।